मध्य प्रदेश में कोईतुर धार्मिक स्थल पर विवेकानंद का स्मृति भवन क्यों?

कोईतुर या गोंड समाज भारत के प्राचीनतम समुदायों में से एक है और इसकी अपनी स्वतंत्र संस्कृति और धर्म है. इसका

Read more

झारखंड वनोपज (अभिवहन का विनियमन) नियमावली 2020: वन अधिकारों पर मंडराता खतरा

17 जून 2020 को झारखंड मंत्रिमंडल की एक अहम बैठक हुई जिसमें झारखंड वनोपज (अभिवहन का विनियमन) नियमावली 2020 को

Read more

कोरोना वायरस महामारी असन्तुलित पूंजीवाद की देन है ना कि चमगादड़: दयामनी बरला

COVID -19 या कोरोनावायरस महामारी ने विश्व भर में संकट की स्थिति पैदा कर दी है, जिसमें अब तक तीन लाख

Read more

कोरोना लॉक डाउन में, बगैर वनोपज, छत्तीसगढ़ के आदिवासी कैसे बनेंगे आत्मनिर्भर?

विश्वव्यापी महामारी कोरोना के संकट से देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति गंभीर हो चुकी है. इस  अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने

Read more

“बाज़ार न बंद है, जंगल तो नहीं”: कोरोना-लॉक डाउन में आदिवासी समाज

“बाजार तो बंद आहे लेकिन जंगल बंद तो नखे नि” (बाजार बंद होने से क्या हुआ, जंगल तो खुला है).

Read more